Network Services in hindi

नेटवर्क सर्विसेज कंप्यूटर कंप्यूटर हार्डवेयर व सॉफ्टवेर दोनों की कंबाइंड योगता है . जिसे नेटवर्क पर स्तिथ कंप्यूटर शेयर करते हे बिभीन नेटवर्क सर्विसेज का अध्यन हम आगे के सेक्शन में करेंगे . नेटवर्क में स्तिथ कंप्यूटरस , सर्विसेज देते है भी है लेते भी है इस आधार पर इन्हें दो भागो में बाटा गया है


  1. सर्विस प्रोवाइडर 
  2. सर्विस रेक्वेस्टर

सर्विस प्रोवाइडर (Service Provider)

सर्विस प्रोवाइडर कंप्यूटर हार्डवेयर व सॉफ्टवेर के एक एसा सेट है जो नेटवर्क में स्तिथ दुसरो कंप्यूटर को अपनी सेविसस प्रदान करता है 



सर्विस रेक्वेस्टर(Service Requester) 

सर्विस रेकुएस्टर कंप्यूटर हार्डवेयर सॉफ्टवेर का एक एसा सेट है जो नेटवर्क में स्तिथ दुसरे कंप्यूटर (सर्विस प्रोवाइडर )से सर्विसेज लेता है कंप्यूटर इंडस्ट्री में निम्न तिन पराक्र के सर्विस प्रोवाइडर व रेकुएस्टर होते है 
  1. सर्वर 
  2. क्लाइंट 
  3. पियर्स 
Network Services : नेटवर्क सर्विसेज




सर्वर (Server)

ये नेटवर्क में स्तिथ रेक्वेस्टर के द्वारा की गयी रिक्वेस्ट को फुल फिल करते है एवं उन्हें अपनी सर्विस प्रदान करते है 

क्लाइंट (Client)

नेटवर्क में स्तिथ प्रोवाइडर्स को अपनी रिक्वेस्ट भेजते हे एवं उनसे सर्विस लेते है 

IP एड्रेस, मैक एड्रेस और गेटवे एड्रेस में क्या अंतर है?

पियर्स (Pears)

ये आवश्यकता के अधर पर कभी सर्वर बन जाते है तो कभी क्लाइंट अर्थात ये दोनों प्रकार का कार्य करते है 
सर्वर , क्लाइंट व पियर कंप्यूटर के द्वारा नेटवर्किंग दो प्रकार से की जा सकती है 

  • सर्वर सेंट्रिक नेटवर्क 
  • पियर - टू - पियर  नेटवर्क 





    Reactions:

    Post a Comment

    Blogger

    नए पोस्ट की जानकारी सीधे ई-मेल पर पायें

     
    [X]

    Subscribe for our all latest News and Updates

    Enter your email address: