DNS में ज़ोन फ़ाइल क्या है? हिंदी में [What is Zone File in DNS ? In Hindi]

ज़ोन फ़ाइल डोमेन नाम सिस्टम (डीएनएस) का एक मूलभूत घटक है, जो डोमेन और उससे जुड़े संसाधनों के बारे में आवश्यक जानकारी प्रदान करता है। यह DNS प्रशासन के एक महत्वपूर्ण भाग के रूप में कार्य करता है, जो डोमेन नामों को विशिष्ट आईपी पते पर मैप करने और विभिन्न DNS रिकॉर्ड प्रकारों को प्रबंधित करने में सक्षम बनाता है।
ज़ोन फ़ाइल की परिभाषा (Definition of Zone File):
ज़ोन फ़ाइल एक सादा-पाठ फ़ाइल है जिसमें एक विशिष्ट DNS ज़ोन के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी होती है। DNS के संदर्भ में, एक ज़ोन किसी विशेष डोमेन प्रशासक या संगठन के नियंत्रण के तहत DNS नेमस्पेस के एक हिस्से को संदर्भित करता है। ज़ोन फ़ाइल डोमेन नाम और संबंधित आईपी पते के साथ-साथ अन्य DNS रिकॉर्ड के बीच मैपिंग रखती है जो DNS ज़ोन की कॉन्फ़िगरेशन को परिभाषित करती है।
ज़ोन फ़ाइलों की संरचना (Structure of Zone Files):
ज़ोन फ़ाइलें एक डोमेन से जुड़े विभिन्न रिकॉर्ड को परिभाषित करने के लिए एक विशिष्ट वाक्यविन्यास और संरचना का पालन करती हैं। विशिष्ट संरचना में शामिल हैं:
  • प्राधिकरण की शुरुआत (एसओए) रिकॉर्ड (Start of Authority (SOA) Record):
SOA रिकॉर्ड ज़ोन फ़ाइल की शुरुआत में दिखाई देता है और डोमेन और ज़ोन के बारे में आवश्यक जानकारी प्रदान करता है। इसमें ज़ोन के लिए प्राथमिक आधिकारिक DNS सर्वर, डोमेन व्यवस्थापक का ईमेल, डोमेन का सीरियल नंबर और ज़ोन को ताज़ा करने और समाप्त करने के लिए टाइमर जैसे विवरण शामिल हैं।
example.com.      IN      SOA   ns1.example.com. admin.example.com. (
                     2023120101 ; serial
                     3h         ; refresh
                     1h         ; retry
                     1w         ; expire
                     1h         ; minimum
                   )
  • नाम सर्वर (एनएस) रिकॉर्ड्स (Name Server (NS) Records):
एनएस रिकॉर्ड डोमेन के लिए आधिकारिक नाम सर्वर निर्दिष्ट करते हैं। वे बताते हैं कि डोमेन से संबंधित प्रश्नों को संभालने के लिए कौन से DNS सर्वर जिम्मेदार हैं।
example.com.      IN      NS      ns1.example.com.
example.com.      IN      NS      ns2.example.com.
  • मेल एक्सचेंज (एमएक्स) रिकॉर्ड्स (Mail Exchange (MX) Records):
एमएक्स रिकॉर्ड डोमेन की ओर से ईमेल प्राप्त करने के लिए जिम्मेदार मेल सर्वर को निर्दिष्ट करते हैं। इनमें मेल सर्वर की प्राथमिकता और मेल सर्वर का पूर्णतः योग्य डोमेन नाम (FQDN) शामिल हैं।
example.com.      IN      MX   10   mail.example.com.
  • पता (ए) रिकार्ड (Address (A) Records):
एक रिकॉर्ड डोमेन नामों को IPv4 पतों पर मैप करता है। इनका उपयोग एक डोमेन नाम को एक विशिष्ट आईपी पते के साथ जोड़ने के लिए किया जाता है।
www.example.com.  IN      A      192.168.1.1
  • IPv6 पता (AAAA) रिकॉर्ड (IPv6 Address (AAAA) Records):
A रिकॉर्ड्स के समान, AAAA रिकॉर्ड डोमेन नामों को IPv6 पतों पर मैप करता है, जो अगली पीढ़ी के इंटरनेट प्रोटोकॉल के लिए समर्थन प्रदान करता है।
ipv6.example.com. IN      AAAA   2001:0db8:85a3:0000:0000:8a2e:0370:7334
  • पॉइंटर (पीटीआर) रिकॉर्ड्स (Pointer (PTR) Records):
पीटीआर रिकॉर्ड का उपयोग रिवर्स डीएनएस लुकअप में किया जाता है, जो एक आईपी पते को एक डोमेन नाम के साथ जोड़ता है। आईपी ​​पते की प्रामाणिकता को सत्यापित करने के लिए उन्हें अक्सर इंटरनेट सेवा प्रदाताओं (आईएसपी) द्वारा कॉन्फ़िगर किया जाता है।
1.1.168.192.in-addr.arpa.  IN   PTR   www.example.com.
  • विहित नाम (CNAME) रिकॉर्ड्स (Canonical Name (CNAME) Records):
CNAME रिकॉर्ड एक डोमेन के लिए एक उपनाम बनाते हैं, इसे दूसरे डोमेन पर रीडायरेक्ट करते हैं। इसका उपयोग आमतौर पर उपडोमेन के लिए किया जाता है या जब किसी डोमेन को किसी अन्य डोमेन को इंगित करने की आवश्यकता होती है।
ftp.example.com.  IN      CNAME  example.com.
ज़ोन फ़ाइलों का उद्देश्य (Purpose of Zone Files):
  • डोमेन नाम को आईपी पते पर मैप करना (Mapping Domain Name to IP Address):
ज़ोन फ़ाइलों का प्राथमिक उद्देश्य डोमेन नाम और उनके संबंधित आईपी पते के बीच मैपिंग स्थापित करना है। यह DNS रिज़ॉल्यूशन के लिए आवश्यक है, जो उपयोगकर्ताओं को मानव-पठनीय डोमेन नामों का उपयोग करके वेबसाइटों और अन्य ऑनलाइन संसाधनों तक पहुंचने में सक्षम बनाता है।
  • DNS कॉन्फ़िगरेशन को परिभाषित करना (Defining DNS Configuration):
ज़ोन फ़ाइलें एक विशिष्ट डोमेन के लिए DNS कॉन्फ़िगरेशन को परिभाषित करती हैं, जिसमें आधिकारिक नाम सर्वर, मेल सर्वर और अन्य DNS रिकॉर्ड शामिल हैं। वे डोमेन से संबंधित प्रश्नों को संभालने के तरीके पर DNS सर्वरों के लिए निर्देशों का एक व्यापक सेट प्रदान करते हैं।
  • DNS रिज़ॉल्यूशन को सुविधाजनक बनाना (Facilitating DNS Resolution):
ज़ोन फ़ाइलें DNS रिज़ॉल्यूशन प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। जब कोई उपयोगकर्ता किसी डोमेन से जुड़े आईपी पते का अनुरोध करता है, तो DNS सर्वर आवश्यक जानकारी प्राप्त करने के लिए ज़ोन फ़ाइलों से परामर्श करते हैं। यह डोमेन नाम से लेकर आईपी पते तक का सटीक और कुशल समाधान सुनिश्चित करता है। CTV (Connected Television) क्या है?
  • सहायक मेल डिलीवरी (Supporting Mail Delivery):
ज़ोन फ़ाइलों के भीतर एमएक्स रिकॉर्ड डोमेन के लिए ईमेल प्राप्त करने के लिए ज़िम्मेदार मेल सर्वर निर्दिष्ट करके ईमेल ट्रैफ़िक को निर्देशित करते हैं। यह डोमेन से जुड़ी ईमेल सेवाओं के उचित कामकाज के लिए महत्वपूर्ण है।
  • रिवर्स डीएनएस लुकअप सक्षम करना (Enabling Reverse DNS Lookups):
ज़ोन फ़ाइलों में पीटीआर रिकॉर्ड रिवर्स डीएनएस लुकअप का समर्थन करते हैं, जिससे आईपी पते की प्रामाणिकता के सत्यापन की अनुमति मिलती है। यह सुरक्षा उद्देश्यों और ईमेल डिलिवरेबिलिटी के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।
ज़ोन फ़ाइलों में DNS रिकॉर्ड्स के प्रकार (Types of DNS Records in Zone Files):
  • प्राधिकरण की शुरुआत (एसओए) रिकॉर्ड (Start of Authority (SOA) Record):
डोमेन के बारे में आधिकारिक जानकारी प्रदान करता है, जिसमें प्राथमिक DNS सर्वर, डोमेन व्यवस्थापक का ईमेल और ज़ोन रीफ्रेश और समाप्ति के लिए टाइमर शामिल हैं।
  • नाम सर्वर (एनएस) रिकॉर्ड (Name Server (NS) Record):
डोमेन के लिए आधिकारिक नाम सर्वर निर्दिष्ट करता है।
  • मेल एक्सचेंज (एमएक्स) रिकॉर्ड (Mail Exchange (MX) Record):
डोमेन की ओर से ईमेल प्राप्त करने के लिए जिम्मेदार मेल सर्वर को इंगित करता है।
  • पता (ए) रिकॉर्ड (Address (A) Record):
एक डोमेन नाम को IPv4 पते पर मैप करता है।
  • IPv6 पता (AAAA) रिकॉर्ड (IPv6 Address (AAAA) Record) :
एक डोमेन नाम को IPv6 पते पर मैप करता है।
  • विहित नाम (CNAME) रिकॉर्ड (Canonical Name (CNAME)Record) :
किसी डोमेन के लिए उपनाम बनाता है, उसे दूसरे डोमेन पर पुनर्निर्देशित करता है।
  • सूचक (पीटीआर) रिकॉर्ड (Pointer (PTR) Record) :
डोमेन नाम के साथ आईपी पते को जोड़ने, रिवर्स डीएनएस लुकअप के लिए उपयोग किया जाता है।
  • टेक्स्ट (TXT) रिकॉर्ड (Text (TXT) Record):
DNS रिकॉर्ड में मानव-पठनीय जानकारी को शामिल करने की अनुमति देता है, जिसका उपयोग अक्सर सत्यापन या वर्णनात्मक उद्देश्यों के लिए किया जाता है।
Zone File in hindi
Image Source : Constellix
डीएनएस प्रशासन में महत्व (Significance in DNS Administrator):
  • डीएनएस कॉन्फ़िगरेशन और प्रबंधन (DNS Configuration and Management):
ज़ोन फ़ाइलें DNS प्रशासन में एक केंद्रीय घटक के रूप में कार्य करती हैं, जो किसी डोमेन के लिए DNS सेटिंग्स को कॉन्फ़िगर और प्रबंधित करने के लिए एक संरचित और व्यवस्थित तरीका प्रदान करती हैं।
  • समस्या निवारण और निदान (Troubleshooting and Diagnostics):
DNS प्रशासक समस्या निवारण और निदान के लिए ज़ोन फ़ाइलों का उपयोग करते हैं। ज़ोन फ़ाइल में रिकॉर्ड की जांच करके, प्रशासक समस्याओं की पहचान कर सकते हैं, कॉन्फ़िगरेशन सत्यापित कर सकते हैं और DNS सेटिंग्स की सही कार्यप्रणाली सुनिश्चित कर सकते हैं।
  • परिवर्तन और अद्यतन लागू करना (Implementing Changes and Updates):
जब DNS कॉन्फ़िगरेशन में परिवर्तन आवश्यक होते हैं, तो व्यवस्थापक ज़ोन फ़ाइलों को अद्यतन करते हैं। इसमें आईपी पते में परिवर्तन, नाम सर्वर को जोड़ना या हटाना, या मेल सर्वर कॉन्फ़िगरेशन में अपडेट शामिल हो सकते हैं।
  • सुरक्षा और प्रमाणीकरण (Security and Authentication):
ज़ोन फ़ाइलें सुरक्षा और प्रमाणीकरण में भूमिका निभाती हैं, विशेष रूप से रिवर्स डीएनएस लुकअप के लिए उपयोग किए जाने वाले पीटीआर रिकॉर्ड के मामले में। वे सत्यापन प्रक्रिया में योगदान करते हैं, यह सुनिश्चित करते हुए कि किसी डोमेन से जुड़े आईपी पते वैध हैं।
  • डीएनएस ज़ोन स्थानांतरण (DNS Zone Transfer):
DNS ज़ोन स्थानांतरण में आधिकारिक नाम सर्वरों के बीच ज़ोन फ़ाइलों की प्रतिकृति शामिल होती है। यह प्रक्रिया सुनिश्चित करती है कि एकाधिक DNS सर्वरों के पास एक डोमेन के बारे में सुसंगत और अद्यतन जानकारी हो।
निष्कर्ष (Conclusion):
डोमेन नेम सिस्टम (डीएनएस) के जटिल आर्किटेक्चर में, ज़ोन फ़ाइलें एक महत्वपूर्ण तत्व के रूप में खड़ी होती हैं, जो एक विशिष्ट डोमेन के लिए डीएनएस सेटिंग्स के कॉन्फ़िगरेशन और प्रबंधन के लिए ब्लूप्रिंट प्रदान करती हैं। अपने संरचित सिंटैक्स और विविध रिकॉर्ड प्रकारों के साथ, ज़ोन फ़ाइलें आईपी पते पर डोमेन नामों की मैपिंग की सुविधा प्रदान करती हैं, डीएनएस कॉन्फ़िगरेशन को परिभाषित करती हैं, और ईमेल डिलीवरी और रिवर्स डीएनएस लुकअप जैसी आवश्यक सेवाओं का समर्थन करती हैं। DNS प्रशासन की रीढ़ के रूप में, ज़ोन फ़ाइलें इंटरनेट की निर्बाध कार्यप्रणाली में योगदान देती हैं, डोमेन नामों का सटीक और कुशल समाधान सुनिश्चित करती हैं और असंख्य सेवाओं का समर्थन करती हैं जो अपने संचालन के लिए DNS पर निर्भर हैं।

Post a Comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Ads

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: