डिजिटल कम्युनिकेशन सिस्टम में रिपीटर एक ऐसा डिवाइस है जो डिजिटल सिग्नल को एलेक्ट्रोमैग्नेटिक में रूप में रिसीव करता है. या तो हम कह सकते है की यह एक ऑप्टिकल ट्रांस्मिसन मीडियम है  जो सिग्नल को रिजनरेट करता  है और सिग्नल को आगे ट्रांसफर करता है . वो सिग्नल ईथरनेट केबल के हो या वाई - फाई  के ,  

हब एक रिपीटर की तरह कार्य कर सकता है . लेकिन एक रिपीटर इंटेलीजेंट डिवाइस जैसे की राऊटर और स्विच की तरह कार्य नहीं कर सकता है . हैलो दोस्तों और विद्यार्थीयो मै अनुराग राय आप सभी का अपने ब्लॉग पर स्वागत करता हु . कुछ ऐसे ही अन्य जानकारी पढ़ने की लिए हमें फॉलो करे . 

रिपीटर अनवांटेड सिग्नल को रिमूव करता है जैसे की डिजिटल सिग्नल में एनालॉग सिग्नल का मिश्रण हो तो उसे एम्प्लिफाई करके केवल डिजिटल सिग्नल को ही ट्रांसमिट करता है . रिपीटर को हम सिग्नल बूस्टर या रेंज एक्सटेन्डर्ड के नाम से भी जानते है. 





रिपीटर क्या है? हिंदी में [What is Repeater? in Hindi]

एक रिपीटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो एक संचरित संकेत(Transmitted signal) देता है। यह एक विशिष्ट आवृत्ति(Special frequency) पर एक संकेत प्राप्त(signal received) करता है, फिर इसे बढ़ाता है  संकेत(Signal) को बढ़ाकर, एक रिपीटर मूल संकेत(Original signal) की Transmission range को बढ़ाता है।

रिपीटर में कई एप्लिकेशन होते हैं, लेकिन कंप्यूटिंग में वे वायरलेस नेटवर्क में सबसे अधिक उपयोग किए जाते हैं। उदाहरण के लिए, एक बड़े घर में वाई-फाई नेटवर्क घर के विभिन्न क्षेत्रों में सिग्नल को रिले करने के लिए एक या अधिक रिपीटर्स का उपयोग करने से लाभ हो सकता है। जिन घरों में ईंट की दीवारें या सीमेंट के फर्श हैं, उन्हें बाधा के चारों ओर एक रिपीटर रिले सिग्नल होने से भी लाभ हो सकता है। व्यवसाय अक्सर एक बड़ी इमारत के भीतर एक एकल वायरलेस(Single wireless) नेटवर्क बनाने के लिए रिपीटर्स की एक श्रृंखला(series) का उपयोग करते हैं।

जबकि सभी Repeat वाले एक ही उद्देश्य से काम करते हैं, वे कई रूपों में आते हैं। कुछ वायरलेस डिवाइस, जिन्हें अक्सर "रेंज एक्सटेंडर" कहा जाता है, को विशेष रूप से रिपीटर्स के रूप में उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। अन्य डिवाइस, जैसे हब, स्विच, और राउटर सभी को सॉफ़्टवेयर उपयोगिता या वेब इंटरफ़ेस का उपयोग करके रिपीटर के रूप में कॉन्फ़िगर किया जा सकता है जो वायरलेस डिवाइस को नियंत्रित(Control) करता है।


ध्यान दें: चूंकि रिपीटर्स केवल एक आने वाले सिग्नल को रिले करते हैं, एक राउटर को रिपीटर के रूप में उपयोग करने से इसकी सिग्नल रूटिंग क्षमता का उपयोग नहीं होता है। इसलिए, यदि संभव हो तो एक रिपीटर के रूप में रेंज एक्सटेंडर का उपयोग करना अधिक समझ में आता है।
what is repeater? in Hindi
Image Source: banggood

रिपीटर का प्रयोग क्यों करे ? [Why use repeater? in Hindi]

जैसा की आप सभी जानते है की रिपीटर को हम सिग्नल बूस्टर या रेंज एक्सटेंडेर के नाम से जानते है . यदि हम सिग्नल बूस्टर पर चर्चा  करे तो पता  चलता  है की यह एक ऐसी डिवाइस है जो सिग्नल को बूस्ट करती है अर्थात  सिग्नल को बढ़ावा  देती  है इस डिवाइस को हम ऐसी जगह पर प्रयोग में ले सकते है जहा पर सिग्नल कम आता हो . वहां पर यह उस सिग्नल की स्पीड को हाई कर देगी .
यदि हम दूसरे नाम पर जाते है तो हम देखेंगे की इसे सिग्नल एक्सटैन्डर्ड के नाम से जानते है . जैसे हमारे ऑफिस कैंपस बड़ा है वहा पर वाई फाई की सुबिधा उपलब्ध  है लेकिन होता क्या है की राऊटर की अपनी एक रेंज होती है यदि आपके ऑफिस का रेंज राऊटर  के रेंज से बड़ा है तो आप रिपीटर का प्रयोग करके रेंज को बढ़ा सकते है .





कैसे रिपीटर को प्रयोग में ले?[How to use repeater? in Hindi]  

सबसे पहले सुनिश्चित करे की आपके रेंज कहा तक है या कहा पर सिग्नल की कमी है वही पर पावर प्लग करे कोई एक सुनिश्चित जगह देख कर . फिर रिपीटर को लॉगिन करे और वाई फाई सिग्नल का यूजर आईडी और पासवर्ड डाल कर कनेक्ट कर ले . देखेंगे की आपकी रेंज भी बढ़ गयी होगी  और स्पीड भी पहले की अपेछा  तेज  होगी .


Reactions:

Post a comment

Blogger
  1. Hi, I do think this is a great blog. I stumbledupon it ;) I am going to return yet again since I
    saved as a favorite it. Money and freedom is the best way
    to change, may you be rich and continue to guide
    others.

    ReplyDelete
  2. hello there and thank you for your info ? I?ve certainly picked up something new from right here.
    I did however expertise some technical issues using this website, as I experienced to reload the web
    site many times previous to I could get it to load properly.
    I had been wondering if your hosting is OK? Not that I'm complaining, but slow loading instances times will often affect your placement in google and could damage your high quality score if ads and marketing with Adwords.
    Anyway I am adding this RSS to my email and could look out for much more of your respective exciting content.
    Make sure you update this again very soon..

    ReplyDelete

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: