Computer History 1981

पर्सनल कम्पुटर बाजार में उतरते हुए आई. बी.एम ने अपना पहला पीसी प्रदशित किया .

Computer History 1982

आई.बी.एम. के पर्सनल कम्पुटर को विकसित करने और उसका विपरन करने के लिए कामपेक इंक. की स्थापना हुयी. 
हेयस ने 300 रफ़्तार वाला छोटा मॉडेम निकला जो बेहद सफल रहा .
IP एड्रेस, मैक एड्रेस और गेटवे एड्रेस में क्या अंतर है?

Computer History 1983

लोटस डेवलपमेंट कारपोरेसन की स्थापना हुयी . लोटस सॉफ्टवेर (अब आई.बी.एम. का हिस्सा है) के स्प्रेडशिट प्रोग्राम लोटस 1-2-3 , ने आई.बी.एम के पर्सनल कम्पुटर को पहली बड़ी सफलता दिलायी . इस प्रोग्राम की अपार कामयाबी की बदौलत आई.बी.एम. ने कार्पोरेट जगत में अपने अपने लिए खास जगह बनायीं.

Computer History 1984 

HP (ह्यूलेट- पैकर्ड)  ने अपने पर्सनल कम्पुटर के लिए पहले लेजरजेट प्रिंटर लाने की घोषणा की. 
एप्पल ने मैकिंनटोश नामक कम्पुटर बाजार में उतारा जिसमे आसानी से सीखे जा सकने के लिए ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस था.

Computer History 1987

कई पर्सनल कम्पुटर ईस समय आए जो छोटे प्रोसेस्सर, इंटेल 80386 से संयुक्त थे.
क्या मुझे दिन-प्रतिदिन इंटरनेट ब्राउजिंग के लिए वीपीएन का उपयोग करना चाहिए?

Computer History 1988

इंटेल 486, विश्व का एसा पहला छोटा प्रोसेस्सर बना जिसमे 1000000 ट्रांजिस्टर लगे थे . इंटेल i486 32 बिट स्केलर इंटेल सीआईएससी मिक्रोप्रोसर तथा जो की इंटेल 486 का हिस्सा था. 
1981 से 2005 तक कंप्यूटर से जुडी मुख्य उपलब्धिया


Computer History 1991 

विश्वव्यापी जाल यानी की वर्ल्ड वाइड वेब ने उन मानदंडो को जारी किये , जिसमे विभीन कम्पुटर के डाक्यूमेंट्स को आपस में जोड़ने का खाका तयार किया था.

Computer History 1992

माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के तहत विंडोज 3.1 जू श्रृंखला बाजार में उतारी . इसमे ट्रू टाइप्स फोंट्स, मल्टीमीडिया , ऑब्जेक्ट लिंकिंग और इम्बेडिंग जैसे आयाम जोड़े गए .

Computer History 1993

मार्क एंडरसन ने ग्राफिक्स युक्त मोजैक नामक वेब ब्राउज़र का अविष्कार किया . इसकी सफलता से नेटस्केप कोमुनिकेसन कारपोरेसन संगठीत हुआ.

Computer History 1994

 जिम क्लार्क और मार्क एंडरसन ने नेटस्केप की स्थापना की और वर्ल्ड वाइड वेब के ब्राउज़र , नेटस्केप नेविगेटर 1.0 को लांच किया .
नेटवर्क क्या है ? -computerguidehindi

Computer History 1995

ऑपरेटिंग सिस्टम का बेहतर बनाते हुए माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज -95 बनाया . विंडोज 95 खास तौर से आम उपभोगता के लिए तयार किया गया , ग्राफिक्स युक्त इंटरफ़ेस आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम है.

Computer History 1997

माइक्रोसॉफ्ट ने इन्टरनेट एक्स्प्लोरर 4.0 की बदौलत इन्टरनेट जगत में खास जगह बना ली . इंटेल 7.5 मिलियन ट्रांसिस्टर से युक्त प्रोसेसर पेंटियम 2 को लेकर आया.

Computer History 1998

माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 95 में बदलाव किये और विंडोज 98 जारी किया . विंडोज 98 से कम्पुटर का प्रदर्शन बेहतर  होने के साथ साथ यह इन्टरनेट की दृष्टी से भी अच्छा साबित हुआ. खास बाट यह है की यह नई पीढ़ी के हार्डवेयर और सॉफ्टवेर के अनुकूल था. 
एप्पल ने अपने लोकप्रिय कम्पुटर , मेकिनटॉस का अगला संस्करण , आई . मैक निकाला.


Computer History 1999 

इंटेल ने मल्टीमीडिया की बेहतर छमता वाला प्रोसेसर , पेनटीयम 3 जरी किया .
माइक्रोसॉफ्ट ने ऑफिस 2000 को बाजार में उतारा.

Computer History 2000 

माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 2000 और विंडोज एम.ई. जारी किया . ऑफिस 2000 सुरक्षा और निर्भरता की दृष्टी से पुराने संस्करण के मुकाबले बेहतर था . वोंदोव्स एम.ई. के नाम से जाना जाने वाला विंडोज मिलेनियम 16बिट/32बिट की छमता वाला ग्राफिकल युक्त ऑपरेटिंग सिस्टम है . जिसे मुख्य रूप से घरेलु उपभोगता के लिए तयार किया गया .
इंटेल ने पेंटियम 4 प्रोसेसर की चिप बनायीं जो 1.4 गीगा हर्ट्ज़ से शुरू होने वाली क्लाक स्पीड्स से युक्त था.

Computer History 2001

कम्पुटर पर पढ़ी जाने वाली डिजिटल किताबो यानी की ई-बुक्स का जन्म हुआ . माइक्रोसॉफ्ट ने ऑपरेटिंग सिस्टम में भारी बदलाव करते हुए डेस्कटॉप और सर्वर के लिए विंडोज - एक्स.पी. निकाला.
माइक्रोसॉफ्ट ने उसके बाद ऑफिस एक्स.पी. निकाला जो नए ज़माने के रिजल्ट देने वाले सॉफ्टवेर की तरह है 
नेटवर्किंग डिवाइस- Type of Networking Device in hindi

Computer History 2002

माइक्रोसॉफ्ट ने डॉट नेट की कांसेप्ट को लांच किया जिसका इस्तेमाल वेब पर आधारित सेवायो के सॉफ्टवेर एप्लीकेशन को विकसित करने और चलाने के लिए किया गया .
सीडी राईटर्स की जगह डीवीडी राईटर्स ने ले ली  डीवीडी में सीडी के मुकाबले आठ गुना ज्यादा स्टोर करने की छमता होती है 

Computer History 2003

ताररहित कम्पुटर और अन्य उपकरण जैसे किबोर्ड ,माउस ,होम नेटवर्क और इन्टनेट आजकल आम चीजे हो गयी है .
मौजूदा ऑपरेटिंग सिस्टम वायरलेस और ब्लू-टूथ दोनों के लिए अनुकूल है .
कम्पुटर निर्माताओ ने स्मार्ट डिस्प्ले बनाने शुरू कर दिए . स्मार्ट डिस्प्ले हलके वजन वाले टच स्क्रीन मोनिटर होते है जिससे आप पर्सनल को बिना तार के इस्तेमाल किये कही भी चला सकते है .
Server Network : सर्वर नेटवर्क

Computer History 2004

 भारी भरकम सीआरटी मोनिटर के बदले कम्पुटर उपभोगता फ्लैट -पेनल वाले एल.सी.डी. मोनिटर का इस्तेमाल करने लगे .
एप्पल कम्पुटर ने पतली स्क्रीन स्क्रीन वाले आई .मैक जी-5 नामक कम्पुटर बाजार में उतारे . इनकी सिस्टम यूनिट मोनिटर में ही लगी हुयी थी
सर्वर जे बाजार में माइक्रोसॉफ्ट विंडोज , उनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के विकल्प के रूप में लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम ने अपनी जगह बनायीं . 

Computer History 2005

एप्पल ने जेब में समाँ जाने वाला आयीपैड औडियो प्लेयर निकाला.
माइक्रोसॉफ्ट ने एक्स बॉक्स 360 नाम का गेम कंसोल निकाला.
मोबाइल उपकरण के रूप में लोग पी.डीए. मोबाइल के बदले स्म्नार्ट फोन ज्यादा पसंद करने लगे . स्मार्ट फोन , सेल्युल्लर फोन , इ-मेल , वेब-ब्राउज़र ,गाने ,विडियो गेम , इनबिल्ट कैमरा और ब्याक्तिगत सुचना जैसी सुविधाओ से युक्त होता है .

Computer History 2006

माइक्रोसॉफ्ट ने ऑफिस का नया संस्करण पेश किया .इंटेल ने छोटे प्रोसेस्सर की नयी श्रृखला , पेंनटियम डी पेश की .
माइक्रोसॉफ्ट ने ऑपरेटिंग सिस्टम , विंडोज विस्टा का नया संस्करण बाजार में उतारा .विंडोज विस्टा विश्व के सबसे लोकप्रिय वेबब्राउज़र में उतरा. विंडोज विस्टा विश्व के सबसे लोकप्रिय वेबब्राउज़र इन्टरनेट एक्स्प्लोरर 7 से युक्त है .
एप्पल ने इंटेल प्रोसेस्सर लगे हुए मेकिनटोश  कम्पुटर बेचने शुरू कर दिए . आई.बी.एम. ने सबसे तेज गति से काम करने व्व्ले ब्लू जेने/एल नामक सुपर कंप्यूटर का निर्माण किया . इसमे पलक झपकते ही लगभग 28 ट्रिलियन गड्नाये करने की छमता है. 
राऊटर : Networking Device
Reactions:

Post a Comment

Blogger

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: