इंटरनेट इंटरकनेक्टेड कंप्यूटर नेटवर्क की एक वैश्विक प्रणाली(Global system) है जो दुनिया भर में अरबों उपयोगकर्ताओं की सेवा करने के लिए मानक इंटरनेट प्रोटोकॉल सूट (जिसे अक्सर टीसीपी / आईपी कहा जाता है, हालांकि सभी प्रोटोकॉल टीसीपी का उपयोग नहीं करते हैं) का उपयोग करते हैं। यह उन नेटवर्कों का एक नेटवर्क है, जिनमें लाखों, निजी, सार्वजनिक, अकादमिक, व्यावसायिक और सरकारी नेटवर्क होते हैं, जो स्थानीय से लेकर वैश्विक दायरे तक होते हैं, जो कि इलेक्ट्रॉनिक, वायरलेस और ऑप्टिकल नेटवर्किंग तकनीकों की एक विस्तृत श्रृंखला से जुड़े होते हैं। 

इंटरनेट क्या है? हिंदी में[What is internet? in Hindi]

इंटरनेट अरबों कंप्यूटरों और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का एक वैश्विक नेटवर्क है। इंटरनेट के साथ, लगभग किसी भी जानकारी का उपयोग करना, दुनिया में किसी और के साथ संवाद करना और बहुत कुछ करना संभव है। आप यह सब एक कंप्यूटर को इंटरनेट से जोड़कर कर सकते हैं, जिसे ऑनलाइन जाना भी कहा जाता है।




इंटरनेट का उपयोग क्या है? हिंदी में [What is the use of Internet? in Hindi ]


इंटरनेट आधुनिक समय की सबसे उपयोगी तकनीक रही है जो न केवल हमारे दैनिक जीवन में, बल्कि हमारे व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन के विकास में भी हमारी मदद करती है। इंटरनेट हमें कई अलग-अलग तरीकों से इसे हासिल करने में मदद करता है।

छात्रों और शैक्षिक उद्देश्यों के लिए इंटरनेट का उपयोग व्यापक रूप से जानकारी इकट्ठा करने के लिए किया जाता है ताकि अनुसंधान किया जा सके या विभिन्न विषयों के ज्ञान को जोड़ा जा सके। यहां तक ​​कि व्यावसायिक पेशेवरों और डॉक्टरों जैसे व्यवसायों ने अपने उपयोग के लिए आवश्यक जानकारी को फ़िल्टर करने के लिए इंटरनेट का उपयोग किया है। इसलिए इंटरनेट सभी आयु वर्ग में सभी के लिए सबसे बड़ा विश्वकोश है। इंटरनेट उन मित्रों और रिश्तेदारों के साथ संपर्क बनाए रखने में अधिक उपयोगी साबित हुआ है जो विदेशों में स्थायी रूप से रहते हैं।





इंटरनेट से क्या है फायदा? हिंदी में[What is the benefit from Internet ? in Hindi]


  • ई-मेल: ईमेल अब व्यापार में एक आवश्यक संचार उपकरण है। ई-मेल से आप तत्काल इलेक्ट्रॉनिक संदेश भेज और प्राप्त कर सकते हैं, जो पत्र लिखने जैसा काम करता है। आपके संदेशों को पारंपरिक मेल(Traditional mail) के विपरीत, दुनिया में कहीं भी लोगों को तुरंत वितरित किया जाता है। टेलीफोन, फैक्स और डाक सेवाओं की तुलना में ईमेल मुफ़्त, तेज़ और बहुत सस्ता है।
  • 24 घंटे एक दिन - सप्ताह में 7 दिन: इंटरनेट उपलब्ध है, उपयोग के लिए 24x7 दिन।
  • सूचना: सूचना शायद सबसे बड़ा लाभ इंटरनेट की पेशकश है। सरकारी कानून और सेवाओं, व्यापार मेलों और सम्मेलनों, बाजार की जानकारी, नए विचारों और तकनीकी सहायता से लेकर हर विषय के बारे में इंटरनेट पर भारी मात्रा में जानकारी उपलब्ध है। आप लगभग किसी भी तरह के विषय पर किसी भी प्रकार का डेटा पा सकते हैं, जिसे आप गूगल, याहू, एमएसएन आदि जैसे खोज इंजनों(Search Engine) का उपयोग करके देख रहे हैं। 
  • ऑनलाइन चैट: आप वेब पर कई 'चैट रूम' तक पहुंच सकते हैं नए लोगों से मिलते थे, नए दोस्त बनाते थे, साथ ही पुराने दोस्तों के संपर्क में रहते थे। आप एमएसएन(MSN) और याहू वेबसाइटों(Yahoo) में चैट कर सकते हैं।
  • सेवाएं(Service): इंटरनेट पर कई सेवाएं प्रदान(Service Provide) की जाती हैं जैसे कि नेट बैंकिंग, जॉब सर्चिंग, टिकट खरीदना, होटल आरक्षण, जीवन के हर पहलू को पूरा करने वाले विषयों पर मार्गदर्शन सेवाएं।
  • समुदाय(Community): सभी प्रकार के समुदाय इंटरनेट पर फैल गए हैं। इसके समान हित के लोगों के साथ मिलने और सामान्य मुद्दों पर चर्चा करने का एक शानदार तरीका है।
  • ई-कॉमर्स(E-Commerce): इंटरनेट पर जानकारी प्राप्त करने के साथ-साथ आप ऑनलाइन खरीदारी(online shopping) भी कर सकते हैं। कई ऑनलाइन स्टोर और साइटें हैं जिनका उपयोग उत्पादों को देखने के लिए किया जा सकता है और साथ ही उन्हें आपके क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके खरीदा जा सकता है। आपको अपना घर छोड़ने की आवश्यकता नहीं है और आप अपने घर की सुविधा से अपनी सारी खरीदारी कर सकते हैं। इसमें घरेलू जरूरतों, इलेक्ट्रॉनिक्स से लेकर मनोरंजन तक के उत्पादों का एक वास्तविक अद्भुत और विस्तृत रेंज मिला है।
  • मनोरंजन(Entertainment): इंटरनेट ऑडियो / वीडियो गीतों की विस्तृत श्रृंखला, फिल्मों को चलाने की सुविधा प्रदान करता है। जिनमें से कई को डाउनलोड किया जा सकता है। ऐसी ही एक लोकप्रिय वेबसाइट YouTube है।
  • सॉफ्टवेयर डाउनलोड(Software Download): आप इंटरनेट से उपयोगिताओं, गेम, संगीत, वीडियो, मूवी आदि जैसे unlimited, स्वतंत्र रूप से डाउनलोड कर सकते हैं।




इंटरनेट की सीमाएं क्या हैं? हिंदी में [What is limitations of Internet ? in Hindi ]


  • व्यक्तिगत जानकारी की चोरी(Theft of personal information: इंटरनेट पर भेजे गए इलेक्ट्रॉनिक संदेशों को आसानी से पता लगाया जा सकता है और ट्रैक किया जा सकता है, जिससे पता चलता है कि कौन किससे और क्या बात कर रहा है। यदि आप इंटरनेट का उपयोग करते हैं, तो आपकी व्यक्तिगत जानकारी जैसे कि आपका नाम, पता, क्रेडिट कार्ड, बैंक विवरण और अन्य जानकारी अनधिकृत व्यक्तियों द्वारा एक्सेस की जा सकती है। यदि आप ऑनलाइन शॉपिंग के लिए क्रेडिट कार्ड या इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करते हैं, तो आपका Data 'चोरी' भी हो सकता है।
  • परिवार के Communication पर नकारात्मक प्रभाव: यह आमतौर पर देखा गया है कि इंटरनेट पर अधिक समय बिताने के कारण परिवार के सदस्यों के बीच संचार और एकरूपता की भावना में कमी होती है।
  • इंटरनेट की लत: इस बात पर कुछ विवाद है कि क्या वास्तव में इंटरनेट का आदी होना संभव है या नहीं। कुछ शोधकर्ताओं का दावा है कि यह केवल एक ऑनलाइन दुनिया में अपनी समस्याओं से बचने की कोशिश कर रहे लोग हैं।
  • इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले बच्चे एक बड़ी चिंता बन गए हैं। अधिकांश माता-पिता को उन खतरों का एहसास नहीं होता है जब उनके बच्चे इंटरनेट पर लॉग इन करते हैं। जब बच्चे दूसरों से ऑनलाइन बात करते हैं, तो उन्हें एहसास नहीं होता कि वे वास्तव में किसी हानिकारक व्यक्ति से बात कर सकते हैं। इसके अलावा, पोर्नोग्राफी भी इंटरनेट से संबंधित एक बहुत गंभीर मुद्दा है, खासकर जब यह छोटे बच्चों की बात आती है। इंटरनेट पर हजारों पोर्नोग्राफिक साइट हैं जो आसानी से मिल सकती हैं और बच्चों को इंटरनेट का उपयोग करने देने में बाधा बन सकती हैं।
  • वायरस का खतरा: आज, न केवल मनुष्यों को वायरस मिल रहे हैं, बल्कि कंप्यूटर भी हैं। कंप्यूटर मुख्य रूप से इन वायरस को इंटरनेट से प्राप्त कर रहे हैं। वायरस एक प्रोग्राम है जो आपके कंप्यूटर सिस्टम के सामान्य कामकाज को बाधित करता है। इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटर पर वायरस के हमलों का खतरा अधिक होता है और वे आपकी पूरी हार्ड डिस्क को क्रैश कर सकते हैं।
  • स्पैमिंग: इसे अक्सर अनचाहे ईमेल भेजने के कार्य के रूप में देखा जाता है। यह कई या विशाल ईमेल अक्सर सामूहिक कबाड़ मेलिंग की तुलना में है। यह पूरी प्रणाली को अनावश्यक रूप से बाधित करता है। अधिकांश spam commercial advertising  हैं, अक्सर संदिग्ध उत्पादों के लिए, अमीर-त्वरित योजनाएं, या अर्ध-कानूनी सेवाएं प्राप्त होती हैं। स्पैम भेजने के लिए प्रेषक की लागत बहुत कम होती है - अधिकांश लागत प्राप्तकर्ता या वाहक द्वारा प्रेषक के बजाय भुगतान की जाती है

लगभग सभी लोग इंटरनेट का उपयोग करते हैं लेकिन, लगभग 90% उपयोगकर्ता यह नहीं जानते कि इंटरनेट क्या है? और इंटरनेट कैसे काम करता है? तो, मुझे बताएं कि जब आप व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर का उपयोग करके संदेश भेजते हैं तो आपका संदेश कुछ सेकंड में गंतव्य तक पहुंच जाता है। यह इतना अद्भुत है कि हम किसी से भी बात करते हैं जो हमसे बहुत दूर है। इंटरनेट ने पूरी दुनिया को बहुत छोटा बना दिया है।




इंटरनेट (कंप्यूटर के अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क) के माध्यम से हम दो या दो से अधिक कंप्यूटर वर्कस्टेशन को एक साथ जोड़ते हैं। आप इंटरनेट का उपयोग करके कहीं से भी कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। जब आदमी 1969 में चांद पर पहुंचा तो अमेरिकी रक्षा कार्यालय ने एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी यानी ARPA को नियुक्त किया। उस समय, चार कंप्यूटर बनाए गए थे जिसमें उनके पास डेटा एक्सचेंज और शेयर था, बाद में यह कई एजेंसियों से जुड़ा था।

धीरे-धीरे इंटरनेट या नेटवर्क बढ़ता गया और बाद में यह आम लोगों के लिए भी खुल गया और बहुत लोकप्रिय हो गया। इंटरनेट के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि कोई भी इसे नियंत्रित नहीं करता है। भारत में पहली कंपनी, 15 अगस्त, 1995 को, सरकारी कंपनी, बीएसएनएल ने इंटरनेट शुरू किया। बाद में, एयरटेल, रिलायंस जैसे निजी सेवा प्रदाताओं ने, इंटरनेट शुरू किया और अब सबसे अधिक उपयोग करने योग्य नेटवर्क जो कि Jio है।




How Internet work? in Hindi[इंटरनेट कैसे काम करता है? हिंदी में]

आप में से कुछ लोग सोच रहे होंगे कि हमारे ऊपर एक बादल है जो इंटरनेट पर सभी इंटरनेट स्टोर हैं और इंटरनेट उसी से चलता है। लेकिन, मैं आपको बताऊंगा कि ऐसा कुछ नहीं है। हमारे द्वारा छोड़े गए उपग्रह के साथ पूरा इंटरनेट भी नहीं चलता है। पहले उपग्रह द्वारा इंटरनेट चलाया जाता था लेकिन तकनीक बहुत पुरानी थी। लेकिन इस तकनीक में, डेटा बहुत धीमी गति से प्रसारित किया गया था। लेकिन हमारे अच्छी तरह से विकसित इंजीनियरों ने एसी तकनीक की खोज की जिसमें हम आज बुलेट ट्रेन की गति के साथ चल  रहे हैं, यह तकनीक ऑप्टिकल फाइबर केबल है।




यह सच है कि हमने ऑप्टिकल फाइबर केबल स्थापित किया है जिसमें समुद्र में 8 लाख किलोमीटर से अधिक है, जिसमें हमारे इंटरनेट का 90% उपयोग किया जाता है। कम नुकसान और कम लागत के साथ, ऑप्टिकल फाइबर केबल समुद्र में रखी गई है। केबल समुद्र में बिछाई जाती है, जिसमें बड़े जहाज भी चलते हैं और कभी-कभी जहाज का लंगर ऑप्टिकल फाइबर केबल को भी नुकसान पहुंचाता है। यह 13 जनवरी, 2008 को मिस्र में हुआ, जिसके कारण मिस्र का 70% इंटरनेट बंद हो गया था।





इस समस्या का भी समाधान किया गया है। कई टीमें उपलब्ध हैं जो 24/7 घंटे समुद्र में ऑप्टिकल फाइबर केबल की निगरानी करती हैं। यदि ऑप्टिकल केबल फाइबर में कोई नुकसान होता है, तो टीमें इसे जल्दी से जल्दी ठीक करती हैं। अब आप जानते हैं कि 90% इंटरनेट केबल के माध्यम से चलता है लेकिन बाकी 10% कहीं और चलाता है। यह 10% केवल इंटरनेट खुफिया एजेंसी द्वारा एक्सेस किया जाता है, जो उपग्रह पर चलता है। इंटरनेट का यह 10% आम लोगों द्वारा एक्सेस नहीं किया जा सकता है। लेकिन, ए ट्रिक लगाने से आप बाकी 10% तक पहुंच सकते हैं लेकिन कैसे? क्या आपने डार्क वेब, डीप वेब और सतह के बारे में सुना है। अगर नहीं तो टिप्पणी मैं अपनी अगली पोस्ट में बताऊंगा।
इंटरनेट क्या है ?- What is Internet?


आइए समझते हैं कि इंटरनेट कैसे काम करता है ?, हम इसके तीन भागों में विभाजित करते हैं, पहला सर्वर है, जिसमें दुनिया की सभी जानकारी संरक्षित है। दूसरा इंटरनेट सेवा प्रदाता (एक एयरटेल निर्भर विचार की तरह) जो हमें सर्वर से जानकारी भेजने में मदद करता है। तीसरा, हमारा पीसी या मोबाइल या कोई भी ब्राउजर जो इंटरनेट पर सर्फ करने के काम आता है, जिससे हम जानकारी खोजते हैं।

जब हम अपने ब्राउज़र में छवि, वीडियो, गेम के बारे में कोई जानकारी खोजते हैं, तो यह अनुरोध सबसे पहले हमारे इंटरनेट सेवा प्रदाता के पास जाता है। यह नेट प्रोवाइडर सर्वर पर सर्च करता है। इसके बाद सर्वर उस सूचना को इंटरनेट प्रदाता को भेजता है और इंटरनेट प्रदाता हमें सूचना भेजता है। यह प्रक्रिया बहुत तेज़ है, जो हमें मिलीसेकंड में कुछ जानकारी देती है।


Reactions:

Post a comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: