लेखांकन में इक्विटी क्या है? हिंदी में [What is Equity in Accounting? In Hindi]

लेखांकन में, इक्विटी देनदारियों में कटौती के बाद किसी इकाई की संपत्ति में अवशिष्ट ब्याज को संदर्भित करती है। यह किसी व्यवसाय में शेयरधारकों या मालिकों के स्वामित्व हित का प्रतिनिधित्व करता है। अक्सर निगमों के लिए शेयरधारकों की इक्विटी और एकमात्र स्वामित्व और साझेदारी के लिए मालिक की इक्विटी के रूप में जाना जाता है, इक्विटी वित्तीय रिपोर्टिंग में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, जो किसी इकाई के वित्तीय स्वास्थ्य और स्वामित्व संरचना को दर्शाती है। यह अन्वेषण लेखांकन (Exploration Accounting) में इक्विटी की जटिलताओं, इसके घटकों और वित्तीय विवरणों में इसके महत्व पर प्रकाश डालता है।

लेखांकन में समानता को समझना (Understanding Equity in Accounting):

लेखांकन में इक्विटी एक व्यावसायिक इकाई में स्वामित्व हित का प्रतिनिधित्व करती है। यह परिसंपत्तियों से देनदारियां घटाने के बाद बचा हुआ ब्याज है और इसे अक्सर इकाई के बुक वैल्यू के रूप में व्यक्त किया जाता है। इक्विटी व्यवसाय की संपत्ति और कमाई पर मालिकों के दावे के माप के रूप में कार्य करती है।
इक्विटी के घटक (Components of Equity):
  • सामान्य शेयर (Common Stock):
सामान्य स्टॉक शेयरधारकों द्वारा रखे गए स्वामित्व शेयरों का प्रतिनिधित्व करता है। यह शेयरधारकों को मतदान का अधिकार और कंपनी की संपत्ति पर अवशिष्ट दावा प्रदान करता है।
  • पसंदीदा स्टॉक (Preferred Stock):
पसंदीदा स्टॉक स्टॉक का एक वर्ग है जिसे लाभांश भुगतान के मामले में सामान्य स्टॉक पर प्राथमिकता दी जाती है। हालाँकि, इसमें आम तौर पर मतदान का अधिकार नहीं होता है।
  • अतिरिक्त प्रदत्त पूंजी (एपीआईसी) (Additional Paid-in Capital (APIC)):
एपीआईसी शेयरधारकों द्वारा उनके शेयरों के लिए सममूल्य से अधिक भुगतान की गई राशि का प्रतिनिधित्व करता है। यह शेयरों के अंकित मूल्य के अलावा शेयरधारकों द्वारा योगदान की गई पूंजी को दर्शाता है।
  • प्रतिधारित कमाई (Retained Earning):
बरकरार रखी गई कमाई व्यवसाय का संचित लाभ है जिसे लाभांश के रूप में वितरित नहीं किया गया है। यह पुनर्निवेश या भविष्य में उपयोग के लिए रखी गई कमाई के हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है।
  • ट्रेजरी स्टॉक (Treasury Stock):
ट्रेजरी स्टॉक कंपनी के स्वयं के स्टॉक के शेयरों का प्रतिनिधित्व करता है जिसे उसने पुनर्खरीद किया है। इसे इक्विटी से घटाया जाता है और बकाया शेयरों की संख्या में कमी को दर्शाता है।
Accounting में Equity क्या है

वित्तीय विवरण में इक्विटी का महत्व (Significance of Equity in Financial Statements):

  • तुलन पत्र (Balance Sheet):
बैलेंस शीट में, इक्विटी को संपत्ति और देनदारियों के साथ एक खंड के रूप में प्रस्तुत किया जाता है। बैलेंस शीट समीकरण, Assets = Liabilities + Equity, मौलिक लेखांकन समीकरण को दर्शाता है।
  • इक्विटी के परिवर्तनों का कथन (Statement of Changes in Equity):
यह वित्तीय विवरण एक विशिष्ट अवधि में इक्विटी में बदलाव का विवरण देता है, जिसमें नए शेयर जारी करना, शेयरों की पुनर्खरीद, लाभांश और बरकरार रखी गई कमाई में बदलाव शामिल हैं।
  • आय विवरण (Income Statement):
शुद्ध आय की गणना के माध्यम से इक्विटी अप्रत्यक्ष रूप से आय विवरण में परिलक्षित होती है, जो बरकरार रखी गई कमाई में योगदान करती है।

इक्विटी की गणना (Calculation of Equity):

इक्विटी की गणना का मूल सूत्र है:
Equity=Assets−Liabilities
निगमों के संदर्भ में, इक्विटी को इस प्रकार व्यक्त किया जा सकता है:
Equity=Common Stock + Preferred Stock + Additional Paid-in Capital + Retained Earnings−Treasury Stock

व्यवसाय संचालन में इक्विटी का महत्व (Importance of Equity in Business Operations):

  • वित्तीय स्वास्थ्य संकेतक (Financial Health Indicator):
इक्विटी किसी कंपनी के वित्तीय स्वास्थ्य का एक प्रमुख संकेतक है। इक्विटी का उच्च स्तर एक मजबूत वित्तीय स्थिति का प्रतीक है, जो संभावित नुकसान के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है।
  • निवेशक का विश्वास (Investor Confidence):
निवेशक अक्सर कंपनी की वित्तीय स्थिरता के माप के रूप में इक्विटी का विश्लेषण करते हैं। एक स्वस्थ इक्विटी स्थिति निवेशकों का विश्वास बढ़ा सकती है और संभावित निवेशकों को आकर्षित कर सकती है।
  • उधार लेने की क्षमता (Borrowing Capacity):
किसी कंपनी की उधार लेने की क्षमता का आकलन करते समय ऋणदाता इक्विटी स्थिति पर विचार करते हैं। एक उच्च इक्विटी अनुपात कंपनी की ऋण सुरक्षित करने की क्षमता को बढ़ा सकता है।
  • लाभांश भुगतान (Dividend Payments):
इक्विटी एक ऐसा स्रोत है जिससे शेयरधारकों को लाभांश का भुगतान किया जाता है। इक्विटी के भीतर उच्च प्रतिधारित आय वाली कंपनियां लाभांश वितरित करने की क्षमता रखती हैं। इक्विटी मार्केट क्या है? हिंदी में [What is Equity Market? In Hindi]
  • निर्णय लेने का आधार (Basis for Decision-Making):
व्यावसायिक निर्णय, जैसे नए शेयर जारी करना, स्टॉक पुनर्खरीद करना, या लाभांश घोषित करना, अक्सर कंपनी की इक्विटी स्थिति से प्रभावित होते हैं।

समय के साथ इक्विटी में परिवर्तन (Changes in Equity Over Time):

  • नए शेयर जारी करना (Issuance of  New Shares):
जब कोई कंपनी नए शेयर जारी करती है, तो यह सामान्य स्टॉक और इक्विटी के अतिरिक्त भुगतान किए गए पूंजी घटकों को बढ़ाती है।
  • शेयरों की पुनर्खरीद (Repurchase of Shares):
शेयर पुनर्खरीद (बायबैक) सामान्य स्टॉक और अतिरिक्त भुगतान किए गए पूंजी घटकों को कम करती है लेकिन ट्रेजरी स्टॉक को बढ़ाती है।
  • लाभांश भुगतान (Dividend Payments):
लाभांश प्रतिधारित आय को कम करता है, जो शेयरधारकों को लाभ के वितरण को दर्शाता है।
  • शुद्ध आय (Net Income):
शुद्ध आय प्रतिधारित आय को बढ़ाती है, जिससे इक्विटी की वृद्धि में योगदान होता है।

वास्तविक दुनिया के उदाहरण (Real-world Examples):

  • एप्पल इंक. (एएपीएल):
ऐप्पल के वित्तीय विवरणों में, शेयरधारकों की इक्विटी में सामान्य स्टॉक, अतिरिक्त भुगतान की गई पूंजी, बरकरार रखी गई कमाई और ट्रेजरी स्टॉक शामिल हैं। यह कंपनी की स्वामित्व संरचना और वित्तीय स्थिति को दर्शाता है।
  • कोका-कोला कंपनी (KO):
अपने वित्तीय विवरणों में कोका-कोला के इक्विटी अनुभाग में सामान्य स्टॉक, पसंदीदा स्टॉक, अतिरिक्त भुगतान की गई पूंजी, बरकरार रखी गई कमाई और ट्रेजरी स्टॉक शामिल हैं। यह कंपनी की वित्तपोषण और निवेश गतिविधियों में अंतर्दृष्टि प्रदान करता है।
  • निष्कर्ष (Conclusion):
लेखांकन में इक्विटी एक मौलिक अवधारणा है जो किसी व्यवसाय में स्वामित्व हित को दर्शाती है। सामान्य स्टॉक, पसंदीदा स्टॉक, बरकरार रखी गई कमाई और अतिरिक्त भुगतान की गई पूंजी जैसे विभिन्न घटकों को शामिल करते हुए, इक्विटी किसी कंपनी के वित्तीय स्वास्थ्य का आकलन करने, निवेशकों को आकर्षित करने और सूचित व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए एक महत्वपूर्ण मीट्रिक के रूप में कार्य करती है। वित्तीय विश्लेषकों, निवेशकों और व्यापारिक नेताओं के लिए इक्विटी और उसके घटकों को समझना आवश्यक है क्योंकि वे वित्तीय रिपोर्टिंग और कॉर्पोरेट वित्त की जटिलताओं को समझते हैं।
References:
  • Horngren, C. T., Sundem, G. L., Elliott, J. A., & Philbrick, D. R. (2019). Introduction to Financial Accounting. Pearson.
  • Weygandt, J. J., Kimmel, P. D., & Kieso, D. E. (2019). Financial Accounting: IFRS. John Wiley & Sons.
  • Spiceland, J. D., Thomas, W. B., & Herrmann, D. (2020). Financial Accounting. McGraw-Hill Education.

Post a Comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Ads

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: