जियोटैगिंग क्या है? [What is Geotagging? in Hindi]

जियोटैगिंग Geographic मीडिया मेटाडेटा को विभिन्न मीडिया जैसे फोटोग्राफ, वीडियो, वेबसाइट, या आरएसएस फीड से जोड़ने की प्रक्रिया है और यह भू-स्थानिक मेटाडेटा का एक रूप है। इन आंकड़ों में आमतौर पर Latitude और longitude Coordinate शामिल होते हैं, हालांकि वे altitude, bearing, accuracy data और स्थान के नाम भी शामिल कर सकते हैं।




जियोटैगिंग का क्या अर्थ है? [What does geotagging mean? in Hindi]

जियोटैगिंग मेटाडेटा के रूप में Geographic जानकारी को विभिन्न मीडिया में जोड़ने की प्रक्रिया है। डेटा में आमतौर पर Latitude and longitude जैसे निर्देशांक होते हैं, लेकिन इसमें  ऊंचाई, दूरी और स्थान के नाम भी शामिल हो सकते हैं। जियोटैगिंग का उपयोग आमतौर पर तस्वीरों के लिए किया जाता है और इससे लोगों को बहुत सी विशिष्ट जानकारी प्राप्त करने में मदद मिल सकती है, जहां तस्वीर ली गई थी या किसी सेवा में लॉग ऑन करने वाले मित्र का सटीक स्थान।

Location specific website, समाचार और अन्य जानकारी खोजने के लिए Geotagging Location Services का उपयोग किया जा सकता है। यह Positions and coordinates पर आधारित है और अक्सर इसे एक वैश्विक पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) से लिया जाता है।

कुछ सोशल नेटवर्किंग साइट और सेवाएं अपने उपयोगकर्ताओं का स्थान बताती हैं, जो उपयोगकर्ताओं को यह जानने की अनुमति देता है कि उनके मित्र जहां हैं, वे उस वेबसाइट पर लॉग इन हैं।

फ़ोटो टैग करते समय, शॉट को Processed करने के बाद टैगिंग कैमरे द्वारा की जा सकती है, या यह तब लागू किया जा सकता है जब फ़ोटो ऑनलाइन पोस्ट की जाती है। अधिकांश सेलफोन में Built-in GPS होता है, इसलिए वे फोन के कैमरे का उपयोग करके ली गई किसी भी फोटो को जियोटैग कर सकते हैं।




क्यों खतरनाक है जियोटैगिंग? [Why Geotagging Is Dangerous? in Hindi]

जियोटैगिंग के जोखिम। यह आपके कैमरा, मोबाइल फोन और सोशल मीडिया अकाउंट्स को समय और स्थान के साथ आपकी तस्वीरों को टैग करने में सहायक हो सकता है। यह आपके या आपकी तस्वीरों के अन्य लोगों के लिए भी जोखिम भरा हो सकता है, इसलिए इसका उपयोग सावधानी से करें। चिंता यह है कि जियोटैगिंग आपके ठिकाने और गतिविधियों को गलत लोगों के सामने प्रकट कर सकती है।




क्या जियोटैगिंग सुरक्षित है? [Is Geotagging Safe? in Hindi]

किसी भी कारण से असंख्य लोगों के लिए जियोटैगिंग सुरक्षित Practice नहीं है। GPS के साथ capable कोई भी स्मार्टफ़ोन आपके location को indicate कर सकता है और फ़ोटो और पोस्ट के साथ-साथ ऐप्स में भी इस जानकारी को पिन या टैग कर सकता है। कई ब्राउज़रों में एक साधारण प्लग-इन जानकारी को स्वचालित रूप से एक्सेस करने की अनुमति देता है।




क्या मुझे जियोटैग तस्वीरें चाहिए? [Should I geotag photos? in Hindi]

आपको क्यों अपनी तस्वीरें में जियोटैग चाहिए?
इसके विपरीत, यदि आपके पास फोटो है, लेकिन यह नहीं पता है कि आप इसे कहां यह तस्वीर खींची गयी हैं, तो एक जियोटैग आपको नक्शे पर बिल्कुल वही देखने की अनुमति देगा जहां यह है। इसके अलावा, अगर आप अपनी तस्वीरों को ऑनलाइन सोशल मीडिया या एक फोटो वेबसाइट पर पोस्ट करते हैं, तो अपनी तस्वीरों को जियोटैग करना अन्य लोगों के लिए आपकी तस्वीरों को ढूंढना आसान बनाता है।

Post a comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

नए पोस्ट की जानकारी सीधे ई-मेल पर पायें

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: