LINUX एक ऑपरेटिंग सिस्टम या कर्नेल है जो एक ओपन-सोर्स लाइसेंस के तहत वितरित(Distribute) किया जाता है। इसकी कार्यक्षमता सूची काफी कुछ यूनिक्स की तरह है। कर्नेल लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के दिल(Heart) में एक प्रोग्राम है जो सॉफ्टवेयर के साथ हार्डवेयर संवाद(Communication) करने की तरह मौलिक सामान का ख्याल रखता है।

Introduction to Linux Operating System (OS): What is Linux? in Hindi [लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) का परिचय: लिनक्स क्या है? हिंदी में]

लिनक्स पर्सनल कंप्यूटरों के लिए बनाया गया था और धीरे-धीरे इसका इस्तेमाल अन्य मशीनों जैसे सर्वर, मेनफ्रेम कंप्यूटर, सुपर कंप्यूटर आदि में किया जाने लगा। आजकल लिनक्स का इस्तेमाल एम्बेडेड सिस्टम जैसे राउटर, ऑटोमेशन कंट्रोल, टेलीविज़न, डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर, वीडियो गेम कंसोल, स्मार्टवॉच में भी किया जाता है। , आदि। लिनक्स की सबसे बड़ी सफलता एंड्रॉइड (ऑपरेटिंग सिस्टम) है यह लिनक्स कर्नेल पर आधारित है जो स्मार्टफोन और टैबलेट पर चल रहा है। Android लिनक्स के कारण सभी सामान्य-उद्देश्य ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे बड़ा स्थापित आधार(installed base) है। लिनक्स आमतौर पर लिनक्स वितरण(Linux Distribution) में पैक किया जाता है। सोशल मीडिया के Advantages क्या है ? हिंदी में

लिनक्स सिस्टम के घटक [Components of Linux Systems in Hindi]

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम में मुख्य रूप से तीन घटक होते हैं
  • कर्नेल(Kernel) - कर्नेल लिनक्स का मुख्य भाग है। यह इस ऑपरेटिंग सिस्टम की सभी प्रमुख गतिविधियों(Activity) के लिए जिम्मेदार है। इसमें विभिन्न मॉड्यूल शामिल हैं और यह अंतर्निहित हार्डवेयर(Built-in hardware) के साथ सीधे इंटरैक्ट करता है। कर्नेल सिस्टम या एप्लिकेशन प्रोग्राम में निम्न स्तर के हार्डवेयर विवरण(Hardware description) को छिपाने के लिए आवश्यक अमूर्तता प्रदान करता है।
  • सिस्टम लाइब्रेरी(System Library) - सिस्टम लाइब्रेरी विशेष कार्य या प्रोग्राम हैं, जिनके उपयोग से एप्लिकेशन प्रोग्राम या सिस्टम यूटिलिटीज कर्नेल की विशेषताओं तक पहुंचते हैं। ये लाइब्रेरी ऑपरेटिंग सिस्टम की अधिकांश कार्यक्षमताओं को लागू करती हैं और कर्नेल मॉड्यूल के कोड एक्सेस अधिकारों(Code Access Rights) की आवश्यकता नहीं होती है।
  • सिस्टम यूटिलिटी (System Utility)- सिस्टम यूटिलिटी प्रोग्राम विशिष्ट, व्यक्तिगत स्तर(Personal level) के कार्य करने के लिए जिम्मेदार होते हैं।
Introduction to Linux Operating System [लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का परिचय]

लिनक्स किसने बनाया? [Who Created Linux in Hindi]

लिनक्स एक ऑपरेटिंग सिस्टम या कर्नेल है जो युवा और उज्ज्वल लिनुस टॉर्वाल्ड्स के दिमाग में एक विचार के रूप में अंकुरित होता है जब वह एक कंप्यूटर विज्ञान के छात्र थे। वह UNIX OS (मालिकाना सॉफ्टवेयर) पर काम करते थे और सोचते थे कि इसमें सुधार की जरूरत है। मार्केटिंग के नुकसान(Disadvantage) क्या हैं? हिंदी में

लिनक्स के लाभ [Advantage of Linux in Hindi]

  • लिनक्स का मुख्य लाभ, यह एक ओपन-सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है। इसका मतलब है कि स्रोत कोड(Source Code) सभी के लिए आसानी से उपलब्ध है और आपको बिना किसी की अनुमति के किसी को भी कोड को संशोधित करने, संशोधित करने और वितरित करने की अनुमति है।
  • सुरक्षा के संदर्भ में, लिनक्स किसी भी अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में अधिक सुरक्षित है। इसका मतलब यह नहीं है कि लिनक्स 100 प्रतिशत सुरक्षित है, इसके लिए कुछ मैलवेयर है लेकिन किसी भी अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में कम असुरक्षित है। तो, इसके लिए किसी एंटी-वायरस सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता नहीं है।
  • लिनक्स में सॉफ्टवेयर अपडेट आसान और अक्सर होते हैं।
  • विभिन्न लिनक्स वितरण(Linux Distribution) उपलब्ध हैं ताकि आप उन्हें अपनी आवश्यकताओं के अनुसार या अपने स्वाद के अनुसार उपयोग कर सकें।
  • लिनक्स इंटरनेट पर उपयोग करने के लिए स्वतंत्र रूप से उपलब्ध है।
  • इसमें बड़े सामुदायिक समर्थन(Community Support) हैं।
  • यह उच्च स्थिरता प्रदान करता है। यह शायद ही कभी धीमा या जमा देता है और थोड़े समय के बाद इसे रिबूट करने की आवश्यकता नहीं है।
  • यह उपयोगकर्ता की गोपनीयता(Privacy) बनाए रखता है।

लिनक्स के नुकसान [Disadvantages of linux in Hindi]

  • यह बहुत उपयोगकर्ता के अनुकूल(Customized) नहीं है। तो, यह शुरुआती लोगों के लिए भ्रामक(Misleading) हो सकता है।
  • इसमें विंडोज़ की तुलना में छोटे परिधीय हार्डवेयर ड्राइवर(Small peripheral hardware driver) हैं। सोशल मीडिया के नुकसान(Disadvantages) क्या है? हिंदी में

बुनियादी सुविधाओं [Basic facilities of Linux in Hindi]

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं निम्नलिखित हैं।
  • पोर्टेबल(Portable) - पोर्टेबिलिटी का मतलब है कि सॉफ्टवेयर एक ही तरह के विभिन्न हार्डवेयर पर काम कर सकता है। लिनक्स कर्नेल और एप्लिकेशन प्रोग्राम किसी भी तरह के हार्डवेयर प्लेटफ़ॉर्म पर उनकी Installation का समर्थन(Support) करते हैं।
  • ओपन सोर्स (Open Source)- लिनक्स स्रोत कोड स्वतंत्र रूप से उपलब्ध है और यह समुदाय आधारित विकास परियोजना है। लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की क्षमता को बढ़ाने के लिए कई टीमें सहयोग करती हैं और यह लगातार विकसित(Develop) हो रही है।
  • बहु-उपयोगकर्ता(Multi user) - लिनक्स एक बहुउद्देशीय प्रणाली है जिसका अर्थ है कि कई उपयोगकर्ता एक ही समय में मेमोरी / रैम / एप्लिकेशन प्रोग्राम जैसे सिस्टम संसाधनों तक पहुंच सकते हैं।
  • मल्टीप्रोग्रामिंग(Multi-Programming) - लिनक्स एक मल्टीग्राउमिंग सिस्टम है जिसका अर्थ है कि एक ही समय में कई एप्लिकेशन चल सकते हैं।
  • पदानुक्रमित फ़ाइल सिस्टम(Hierarchical file system) - लिनक्स एक मानक फ़ाइल संरचना प्रदान करता है जिसमें सिस्टम फाइलें / उपयोगकर्ता फाइलें व्यवस्थित होती हैं।
  • शेल (Shell) - लिनक्स एक विशेष दुभाषिया कार्यक्रम(Interpreter program) प्रदान करता है जिसका उपयोग ऑपरेटिंग सिस्टम के कमांड को निष्पादित(Execute) करने के लिए किया जा सकता है। इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के संचालन, कॉल एप्लिकेशन प्रोग्राम करने के लिए किया जा सकता है। 
  • सुरक्षा(Security) - लिनक्स उपयोगकर्ता सुरक्षा प्रदान करता है, जो पासवर्ड सुरक्षा / विशिष्ट फ़ाइलों तक नियंत्रित पहुँच / डेटा के एन्क्रिप्शन जैसी प्रमाणीकरण(Authentication) सुविधाओं का उपयोग करता है।

Post a Comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: