स्कैनर क्या है?[What is scanner? in Hindi]

एक स्कैनर एक इनपुट डिवाइस है जो दस्तावेजों(Document) और तस्वीरों(images)को स्कैन करता है। जब कोई दस्तावेज़(Document) स्कैन किया जाता है, तो इसे डिजिटल प्रारूप में बदल दिया जाता है। यह दस्तावेज़(Document) का एक इलेक्ट्रॉनिक संस्करण(Version) बनाता है जिसे कंप्यूटर पर देखा और संपादित(Edit) किया जा सकता है।
what is scanner in hindi

अधिकांश स्कैनर फ्लैटबेड डिवाइस हैं, जिसका मतलब है कि उनके पास एक फ्लैट स्कैनिंग सतह है। यह तस्वीरों, पत्रिकाओं और विभिन्न दस्तावेजों के लिए आदर्श है। अधिकांश फ्लैटबेड स्कैनर में एक आवरण होता है जो ऊपर उठाता है ताकि किताबों और अन्य भारी वस्तुओं को भी स्कैन किया जा सके। एक अन्य प्रकार का स्कैनर एक शीट-फेड स्कैनर है, जो केवल कागज दस्तावेजों को स्वीकार कर सकता है। 

जबकि शीट-फेड स्कैनर पुस्तकों को स्कैन नहीं कर सकते हैं, कुछ मॉडल में एक स्वचालित दस्तावेज़ फीडर(Automatic Document feeder), या एडीएफ शामिल है, जो कई पृष्ठों(Pages) को अनुक्रम(Serial) में स्कैन करने की अनुमति देता है।



स्कैनर कैसे काम करता है?[How does scanner work? in Hindi]

स्कैनर कंप्यूटर सॉफ्टवेयर प्रोग्राम के साथ मिलकर काम करते हैं, जो स्कैनर से डेटा आयात(data import) करते हैं। अधिकांश स्कैनर में मूल स्कैनिंग सॉफ़्टवेयर शामिल होते हैं जो उपयोगकर्ता(Users) को स्कैन को कॉन्फ़िगर करने, आरंभ(Start) करने और आयात(import) करने की अनुमति देता है। स्कैनिंग प्लग-इन भी स्थापित(Install) किया जा सकता है, जो विभिन्न सॉफ़्टवेयर प्रोग्रामों को सीधे स्कैन की गई छवियों(Images) को आयात(Import) करने की अनुमति देता है। उदाहरण के लिए, यदि एडोब फोटोशॉप के लिए एक स्कैनर प्लग-इन स्थापित(Install) है, तो एक उपयोगकर्ता कनेक्टेड स्कैनर से सीधे फ़ोटोशॉप में नई छवियां बना सकता है।





जबकि फ़ोटोशॉप स्कैन की गई छवियों को संपादित(Edit) कर सकता है, एक्रोबेट और ओमनीपेज जैसे कुछ program वास्तव में स्कैन किए गए text को पहचान सकते हैं। इस तकनीक को ऑप्टिकल कैरेक्टर रिकग्निशन या OCR कहा जाता है। स्कैनिंग सॉफ़्टवेयर जिसमें OCR शामिल है, स्कैन किए गए टेक्स्ट दस्तावेज़ को डिजिटल टेक्स्ट फ़ाइल में बदल सकता है जिसे वर्ड प्रोसेसर द्वारा खोला(open) और संपादित(edit) किया जा सकता है। कुछ ओसीआर program page और text स्वरूपण को भी कैप्चर करते हैं, जिससे भौतिक दस्तावेजों की इलेक्ट्रॉनिक प्रतियां बनाना संभव हो जाता है।


Post a comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

नए पोस्ट की जानकारी सीधे ई-मेल पर पायें

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: