Earnings Per Share एक कंपनी के लिए आम स्टॉक के प्रति बकाया शेयर आय का मौद्रिक मूल्य है।

प्रति शेयर आय (ईपीएस) क्या है? [What is Earnings Per Share?] [In Hindi]

Earnings Per Share (EPS), जिसे प्रति शेयर शुद्ध आय भी कहा जाता है, एक Market potential ratio है जो बकाया स्टॉक के प्रति शेयर अर्जित शुद्ध आय की मात्रा को मापता है। दूसरे शब्दों में, यह वह राशि है जो स्टॉक के प्रत्येक शेयर को प्राप्त होगी यदि सभी लाभ वर्ष के अंत में बकाया शेयरों में वितरित किए गए थे।
Earning per share भी एक गणना है जो दर्शाती है कि शेयरधारक आधार पर कंपनी कितनी लाभदायक है। तो प्रति शेयर एक बड़ी कंपनी के मुनाफे की तुलना छोटी कंपनी के प्रति शेयर मुनाफे से की जा सकती है। जाहिर है, यह गणना इस बात पर बहुत अधिक प्रभावित होती है कि कितने शेयर बकाया हैं। इस प्रकार, एक बड़ी कंपनी को अपनी कमाई को छोटी कंपनी की तुलना में स्टॉक के कई अधिक शेयरों में विभाजित करना होगा। Dividend Yield क्या है?

'प्रति शेयर आय (ईपीएस)' की परिभाषा [Definition of "Earning per share" In Hindi]

Earning per share या ईपीएस एक महत्वपूर्ण वित्तीय उपाय है, जो किसी कंपनी की लाभप्रदता को इंगित करता है। इसकी गणना कंपनी की शुद्ध आय को उसके कुल बकाया शेयरों से विभाजित करके की जाती है। यह एक ऐसा उपकरण है जिसका उपयोग बाजार सहभागी किसी कंपनी के शेयर खरीदने से पहले उसकी लाभप्रदता का आकलन करने के लिए अक्सर करते हैं।
Earnings Per Share क्या है?

प्रति शेयर आय फॉर्मूला [Earnings Per Share Formula] [In Hindi]

प्रति शेयर आय की गणना करने के कई तरीके हैं।
प्रति शेयर आय के दो संस्करण (Version) नीचे दिए गए हैं:
​EPS = (Net Income – Preferred Dividends) / End of period Shares Outstanding
EPS = (Net Income – Preferred Dividends) / Weighted Average Shares Outstanding

Post a Comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: