डिस्क-टू-डिस्क-टू-क्लाउड (D2D2C) एक दृष्टिकोण(approach) है जिसमें डेटा को भौतिक साधनों(Physical resources) द्वारा क्लाउड सर्वर पर बैकअप दिया जाता है।

D2D2C को एक हाइब्रिड क्लाउड बैकअप तकनीक माना जाता है, जो वास्तविक हार्ड बैकअप परिसर(Hard backup complex) या सुविधा के लिए समर्थित(Supported) होने वाले डेटा वाले भौतिक हार्ड ड्राइव(Physical Hard Drive) के transportation पर निर्भर करता है।

परिभाषा - डिस्क-टू-डिस्क-टू-क्लाउड (D2D2C) क्या है? [Definition - What is Disk-to-Disk-to-Cloud (D2D2C)? in Hindi]

डिस्क-टू-डिस्क-टू-क्लाउड विशिष्ट हार्ड डिस्क पर बैकअप की जाने वाली डेटा को सहेजकर संचालित करता है और विक्रेता(Seller) के बुनियादी ढांचे(Basic Infrastructure) के भीतर भौतिक डिस्क(Physical Disk) को स्थापित(Install) या संलग्न(Attach) करके क्लाउड बैकअप विक्रेता(Cloud Backup seller) को डेटा Export करता है। यह तकनीक सामान्य क्लाउड बैकअप के समान ही बैकअप समाधान प्रदान करती है, लेकिन बैकअप प्रदाता(Backup Provider) को भौतिक डिस्क(Physical Disk) भेजकर अधिक विशिष्ट इंटरनेट-आधारित डेटा बैकअप प्रक्रिया को समाप्त करते हुए क्लाउड बुनियादी ढांचे(Cloud Basic Infrastructure) में डेटा बैकअप के तरीके में अंतर होता है।

परिभाषा - डिस्क-टू-डिस्क-टू-क्लाउड (D2D2C) क्या है? [Definition - What is Disk-to-Disk-to-Cloud (D2D2C)? in Hindi]

डिस्क-टू-डिस्क-टू-क्लाउड मुख्य रूप से उन स्थितियों में उपयोग किया जाता है जहां इंटरनेट के माध्यम से डेटा अपलोड करने का जोखिम अधिक है और / या डेटा का आकार इतना बड़ा है कि इंटरनेट बैकअप मुश्किल या असंभव है।

Reactions:

Post a comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: