ऋणदाता(Lender) अब ऋण आवेदन(Loan Application) को मंजूरी देने से पहले उधारकर्ताओं के क्रेडिट स्कोर पर प्रमुख जोर देते हैं। परिणामस्वरूप, बड़ी संख्या में लोग, विशेष रूप से युवा कामकाजी पेशेवर, अब अपनी साख(Credit) में सुधार करने के तरीकों की तलाश करते हैं। जहां क्रेडिट स्कोर में सुधार के तरीके हैं, वहीं पूरे विषय(Subject) में कई मिथक(Myth) भी हैं।

क्या व्यक्तिगत ऋण आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करते हैं? [Do Personal Loans Affect Your Credit Score?] [In Hindi]

उदाहरण के लिए, कई लोग मानते हैं कि व्यक्तिगत ऋण(Personal loan) लेने से उनके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव(Negative impact) पड़ेगा। यह असत्य(false) है, और एक तथ्य के रूप में, क्रेडिट स्कोर में सुधार के लिए एक व्यक्तिगत ऋण(Personal loan) का उपयोग किया जा सकता है। व्यक्तिगत ऋण और क्रेडिट स्कोर के बीच संबंध(Relation) को समझने के लिए, यह जानना सबसे पहले आवश्यक है कि क्रेडिट स्कोर की गणना(Credit Score calculation) कैसे की जाती है।

पर्सनल लोन क्लोजर के प्रकार [Types of personal loan closures]

एक व्यक्तिगत ऋण(Personal loan) सबसे अधिक प्रकार के ऋणों में से एक है। पर्सनल लोन लेने के कई फायदे हैं।
  • आप ऋण राशि(loan amount) कैसे खर्च करते हैं, इस पर कोई प्रतिबंध नहीं
  • आसानी से उपलब्ध, तुरंत मंजूरी और निधियों(funds) का वितरण
  • Collateral, minimum documentation की कोई आवश्यकता नहीं है
वाणिज्यिक बैंकों, एनबीएफसी और डिजिटल ऋणदाताओं के साथ, जो व्यक्तिगत ऋण प्रदान करते हैं, Customer choice के लिए खराब हो जाते हैं। इसके अलावा, बढ़ी हुई प्रतियोगिता यह सुनिश्चित करती है कि आप एक उपयुक्त ब्याज दर पर व्यक्तिगत ऋण(Personal loan) प्राप्त कर सकते हैं जो आपके लिए काम करता है।
क्या Personal Loan आपके Credit Score को प्रभावित करते हैं?
अन्य सभी ऋणों की तरह, जब आप व्यक्तिगत ऋण लेते हैं, तो उधार ली गई राशि(Amount) आपके बैंक खाते में जमा की जाती है। फिर आप मासिक ईएमआई(Monthly EMI) के रूप में ऋण (मूल + ब्याज) चुकाते हैं। India में Personal Loan Scam क्या हैं और उनसे कैसे बचें?

क्रेडिट स्कोर का कार्य [Credit score work]

CIBIL जैसे क्रेडिट ब्यूरो भारत में उधारकर्ताओं और क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं के क्रेडिट स्कोर को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार हैं। स्कोर 300 और 900 के बीच होता है और 750 से ऊपर की कोई भी चीज आमतौर पर बैंकों द्वारा पसंद की जाती है। आप इन ब्यूरो की आधिकारिक वेबसाइट(Official website) पर जाकर क्रेडिट स्कोर चेक कर सकते हैं।

क्रेडिट ब्यूरो किसी के क्रेडिट स्कोर की गणना करने के लिए कई महत्वपूर्ण कारकों का उपयोग करता है। महत्व के घटते क्रम में कुछ सबसे महत्वपूर्ण कारक हैं-
  • Credit history
  • Credit utilisation
  • Credit history length
  • Credit mix
  • New credit
ब्यूरो इन कारकों के आधार पर व्यक्तियों के क्रेडिट स्कोर की गणना के लिए अपने मालिकाना एल्गोरिदम (Proprietary algorithms) का उपयोग करता है।

पर्सनल लोन और क्रेडिट स्कोर [Personal loan and credit score]

एक व्यक्तिगत ऋण एक असुरक्षित प्रकार का ऋण होता है, जिसके लिए आपको ऋण राशि के खिलाफ कोई संपार्श्विक जमा करने की आवश्यकता नहीं होती है। पर्सनल लोन की ब्याज दरें आजकल अत्यधिक प्रतिस्पर्धी हैं, और यह उन्हें आपकी वित्तीय आवश्यकताओं की मेजबानी के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प बनाता है।

हालांकि, ऋण(Loan) का प्रकार क्रेडिट ब्यूरो के लिए बहुत अंतर नहीं करता है। जब तक आप व्यक्तिगत ऋण(Personal loan) को समय पर चुकाएंगे, क्रेडिट इतिहास, जो कि ऊपर वर्णित सबसे महत्वपूर्ण कारक है, केवल सुधार होगा। पर्सनल लोन के नुकसान क्या हैं? [What are disadvantages of personal loans?]

अन्य क्रेडिट स्कोर कारकों पर व्यक्तिगत ऋण का प्रभाव [Effect of personal loan on other credit score factors]

जहां तक ​​क्रेडिट रेटिंग का सवाल है, व्यक्तिगत ऋण(Personal loan) का उपयोग करना आपके क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने से बेहतर विकल्प माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि व्यक्तिगत ऋण ऑनलाइन या ऑफलाइन लेने से क्रेडिट उपयोग के अनुपात को कम करने में मदद मिलती है जो क्रेडिट ब्यूरो के लिए दूसरा सबसे महत्वपूर्ण कारक है।

क्रेडिट इतिहास(Credit history) की लंबाई और क्रेडिट मिश्रण जैसे अन्य कारक भी अधिकांश मामलों में व्यक्तिगत ऋण के माध्यम से सकारात्मक रूप से प्रभावित होते हैं। संक्षेप में, व्यक्तिगत ऋण लेना वास्तव में आपके क्रेडिट स्कोर की गणना के लिए क्रेडिट ब्यूरो द्वारा उपयोग किए गए 90% कारकों को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

नया क्रेडिट और व्यक्तिगत ऋण आवेदन [New Credit and Personal Loan Application]

क्रेडिट ब्यूरो के लिए नया क्रेडिट अंतिम सबसे महत्वपूर्ण कारक है। जब भी आप नए ऋण(Loan) के लिए आवेदन करते हैं, तो आपका क्रेडिट स्कोर थोड़ा गिर जाता है। यही कारण है कि यह कहा जाता है कि आपको छोटी अवधि (Short tenure) के भीतर कई उधारदाताओं(Lender) पर ऋण के लिए आवेदन करने से बचना चाहिए।

हालांकि, यह गिरावट बहुत छोटी है और केवल अस्थायी है और यह लंबे समय में आपके क्रेडिट स्कोर या व्यक्तिगत ऋण पात्रता को प्रभावित नहीं करेगा। एक बार जब आप समय पर व्यक्तिगत ऋण चुकाना शुरू कर देते हैं, तो स्कोर में यह गिरावट समाप्त हो जाती है, और आपको वास्तव में स्कोर में सुधार करने का अवसर मिलता है।

चल रहे व्यक्तिगत ऋण(Personal loan) को पूर्व-बंद करने के लिए कब समझ में आता है?

जब व्यक्तिगत ऋण को बंद करना आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है। आइए इन स्थितियों पर एक नज़र डालें:
  • लोन के कार्यकाल की शुरुआत [Beginning of loan term]
जब आप कार्यकाल(Tenure) में अपेक्षाकृत पूर्ण भुगतान के साथ अपने ऋण में हेरफेर करते हैं, तो आप ब्याज की एक महत्वपूर्ण राशि बचा सकते हैं। हालांकि, ध्यान दें कि अधिकांश उधारदाता कार्यकाल के पहले छह से बारह महीनों में ऋण लेने वालों को पूर्व-बंद करने की अनुमति नहीं देते हैं। और, भले ही आप स्वीकृत हों, फौजदारी जुर्माना(Foreclosure chargeable)  हो सकता है। पर्सनल लोन का क्या फायदा है? [What is advantage of personal loan?]
  • जब आपके पास एक अच्छा क्रेडिट इतिहास और स्कोर हो [When you have a good credit history and score]
यदि आपके पास पहले से ही एक अच्छा क्रेडिट स्कोर है, तो पर्सनल लोन में हेरफेर करना आपके क्रेडिट स्कोर को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित नहीं कर सकता। इसके अतिरिक्त, यह भविष्य के उधारदाताओं(Lender) को संकेत देगा कि आप अपने ऋणों(Loan) को समय पर चुकाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

आपको व्यक्तिगत ऋण कब नहीं देना चाहिए? [When should you not give a personal loan?]

  • जब आप अपने क्रेडिट इतिहास(Credit History) और स्कोर का निर्माण कर रहे हों
यदि यह आपकी पहली बार उधार (Borrow) है, तो शेड्यूल के अनुसार ऋण चुकाने से आपको अपना क्रेडिट इतिहास (Credit history) और स्कोर बनाने में मदद मिलेगी।
  • जब प्रीपेमेंट पेनल्टी चार्जेज आपको मिलने वाली बचत से अधिक हो
एक ऋण देने, विशेष रूप से कार्यकाल के बाद के चरणों में, आपको भारी बचत का आनंद लेने में मदद नहीं करेगा। साथ ही, आपको प्रीपेमेंट पेनल्टी फीस भी देनी होगी। यह सुनिश्चित करने के लिए लागत(costing) और लाभों (benefit) पर काम करना सुनिश्चित करें कि क्या ऋण(Loan) आपके लाभ के लिए पूर्व भुगतान करता है।

Post a Comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: