पर्सनल लोन के लिए आवेदन करने से पहले, इसके लिए पात्रता मानदंडों (Eligibility criteria) का आकलन करना महत्वपूर्ण है। हालांकि सामान्य पात्रता दिशानिर्देश (General eligibility guidelines) प्रत्येक ऋणदाता के साथ समान हैं,ज्यादातर पात्रता प्रभावी ब्याज दर (Eligibility effective interest rate) और ऋण राशि (Loan amount) के लिए भिन्न होगी।

पर्सनल लोन के लिए अधिकतम ऋण पात्रता की जांच कैसे करें? [How to check maximum loan eligibility for Personal Loan?] [In Hindi]

  1. आयु (Age): पर्सनल लोन के लिए आवेदन (Applications) करने के लिए आपकी आयु 21 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए। वरिष्ठ नागरिकों (Senior Citizen) के लिए, आम तौर पर अलग उत्पादों (Product) की पेशकश की जाती है और आयु सीमा बढ़ा दी जाती है।
  2. कार्य अनुभव/आय (Work Experience/Income ): एक स्वरोजगार(Self employment) के लिए व्यापार में कम से 2 साल के लिए की जरूरत है, जबकि एक वेतनभोगी वर्तमान नियोक्ता (Salaried current employer) के साथ 1 साल के काम का अनुभव (Work Experience) की एक न्यूनतम होना चाहिए । न्यूनतम मासिक वेतन 15000 रुपये या उससे अधिक होना चाहिए।
  3. क्रेडिट स्कोर (Credit Score): आपको बैंक से सर्वोत्तम ब्याज दर (Best interest rate) उद्धरण चुराने के लिए 750 या उससे अधिक सिबिल स्कोर की आवश्यकता होती है। हालांकि, उधारदाताओं (Lenders) के एक मेजबान के साथ, आप निश्चित रूप से 650 या उससे ऊपर स्कोर के साथ एक सभ्य सौदा(Decent deal) के रूप में अच्छी तरह से प्राप्त कर सकते हैं।
  4. दस्तावेज़ीकरण (Documentation): आपको ऋण के लिए आवेदन करने के लिए फोटो पहचान प्रमाण, पता प्रमाण और आय प्रमाण की आवश्यकता होती है। संयोग (combination) से ऑनलाइन पर्सनल लोन के लिए आपको इन सभी पहलुओं को सत्यापित करने के लिए केवल आधार और पैन की आवश्यकता होती है। पर्सनल लोन क्या है? [What is a personal loan?] [In Hindi]

सिबिल स्कोर महत्वपूर्ण क्यों है? [Why is the CIBIL score important?] [In Hindi]

सिबिल स्कोर (CIBIL Score) महत्वपूर्ण है क्योंकि यह किसी व्यक्ति के वित्तीय इतिहास (Financial history) और व्यवहार को प्रस्तुत करता है। एक सिबिल स्कोर या क्रेडिट स्कोर 300-900 से लेकर तीन अंकों का नंबर होता है। 300 सबसे कम और 900 सबसे ज्यादा रहा। किसी भी प्रकार के ऋण या क्रेडिट कार्ड के लिए पात्र होना। एक व्यक्ति का न्यूनतम अंक 700 होना चाहिए। हमेशा याद रखें कि सिबिल के पास आपके सभी ऋणों, समान मासिक किस्त (ईएमआई) और क्रेडिट कार्ड खर्चों का रिकॉर्ड है।
Personal Loan के लिए अधिकतम Loan Eligibility की जांच कैसे करें?

पर्सनल लोन के लिए यह महत्वपूर्ण क्यों है? [Why is it important for personal loans?] [In Hindi]

यदि कोई व्यक्ति अपने ऋण में चूक करता है या भुगतान को याद करता है, तो स्कोर बाधित हो जाता है। इसलिए हमें अपने सभी बकाए का भुगतान समय पर करना चाहिए और कभी भी कोई भुगतान(Payment) नहीं करना चाहिए। यदि क्रेडिट स्कोर 700 से कम हो जाता है, तो होम लोन कम होने की संभावना कम हो जाती है। यह व्यक्तिगत ऋण (Personal loan) प्राप्त करने की संभावना को भी कम करता है, जब आपको वास्तव में पैसे की आवश्यकता होती है। इसलिए लोन के लिए आवेदन करने से पहले आपको अपना सिबिल स्कोर चेक करना चाहिए, जो ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से उपलब्ध है। अपने स्कोर को जानने के बाद भी लोग आवेदन प्रक्रिया शुरू करने से पहले अपनी पर्सनल लोन (Personal loan) की पात्रता(eligibility) की जांच करते हैं । Personal Loan Disbursement Process क्या है?

पर्सनल लोन के फीचर्स [Personal loan features]:

  • पर्सनल लोन जल्दी होते हैं और कई दस्तावेजों की जरूरत नहीं होती। उदाहरण के लिए, जब आप होम लोन या ऑटो लोन के लिए आवेदन करते हैं, तो बहुत सारी कागजी कार्रवाई आवेदन के पीछे चली जाती है। पर्सनल लोन के लिए सिर्फ इनकम प्रूफ (Income proof) और बेसिक नो योर कस्टमर (Know Your Customer) (केवाईसी) डॉक्युमेंट्स की जरूरत होती है। 
  • होम लोन या ऑटो लोन किसी उद्देश्य या कारण के लिए विशिष्ट है, यानी आप उन्हें तभी उधार लेते हैं जब आपको घर या कार खरीदनी हो। लेकिन, पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते समय कोई भी इसका कारण नहीं पूछता। आप पैसे का उपयोग करने के लिए एक ऋण स्पष्ट कर सकते हैं, एक छुट्टी के लिए जाने के लिए या अपने घर का जीर्णोद्धार (Renovations) । कारण हमेशा अपने विवेक पर रहता है। 
  • जैसा कि पहले कहा गया है, पर्सनल लोन प्रकृति में असुरक्षित हैं। उन्हें सुरक्षा के रूप में गिरवी रखने के लिए किसी जमानत या परिसंपत्ति की आवश्यकता नहीं होती है। चूंकि ऋण पूरी तरह से आपके क्रेडिट स्कोर पर वितरित किए जाते हैं, इसलिए बैंक अन्य ऋणों की तुलना में उच्च ब्याज दरों(High Interest rate) को चार्ज करते हैं। 
  • पर्सनल लोन के लिए पुनर्भुगतान अवधि (repayment tenure) 12 से 60 महीने तक होती है। इससे आपको अपने बजट के भीतर ईएमआई चुनने की छूट मिलती है।
Reactions:

Post a comment

Blogger

Your Comment Will be Show after Approval , Thanks

Sponsorship Ad

 
[X]

Subscribe for our all latest News and Updates

Enter your email address: